मैटल इलेक्ट्रॉनिक फुटबॉल Corona cases in India: भारत में हर दिन 75 हजार नए कोरोना मामले आ रहे

coronavirus-cases increasing rapidly in india भारत में दैनिक कोरोना मामले के बढ़ने की गति विश्व में हुई सबसे ज्यादा, अमेरिका, ब्राजील को भी किया पीछे।

Corona cases in India: कोरोनोवायरस महामारी (Coronavirus pandemic) के मामले में भारत की स्थिति सबसे ज्यादा खराब मालूम पड़ रही हैमैटल इलेक्ट्रॉनिक फुटबॉल, क्योंकि देश में दैनिक मामलों का ट्रजेक्टरी (प्रक्षेपवक्र) दिसंबर 2019 में स्वास्थ्य संकट की शुरुआत के बाद से वैश्विक स्तर पर सबसे अधिक दर्ज (daily corona cases trajectory in India) किया जाना जारी है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के अनुसारमैटल इलेक्ट्रॉनिक फुटबॉल, शनिवार को भारत में कोरोनोवायरस के 76मैटल इलेक्ट्रॉनिक फुटबॉल,472 नए मामले सामने आएमैटल इलेक्ट्रॉनिक फुटबॉल, जिससे कुल मामलों की संख्या बढ़कर 34मैटल इलेक्ट्रॉनिक फुटबॉल,63,972 हो गई। यह एक दिन पहले देश में सामने आए 77,266 मामलों की तुलना (Corona cases in India) में थोड़ा कम है। Also Read - दुनियाभर में केवल 10 प्रतिशत युवाओं को ही हुआ कोविड संक्रमण, WHO ने बताया 20 वर्ष से कम उम्र वाले महामारी से अब तक सुरक्षित

भारत में खतरनाक दर से बढ़ रहे हैं कोरोना मामले

देश में कोरोना के दैनिक मामले पिछले तीन हफ्तों में खतरनाक दर से बढ़ रहे हैं। इस कारण अब देश अमेरिका और ब्राजील से भी आगे हो गया है। कुल 34,सुपर मारियो इलेक्ट्रॉनिक्स63,972 मामलों में से ठीक होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 26,48,998 हो गई, जबकि 24 घंटे में 1,021 लोगों की मौत के साथ अब तक कुल 62,550 लोग इस बीमारी से जान गंवा चुके हैं। 30 जनवरी को पहला मामला सामने आने के बाद से भारत में कोरोना के 34 लाख से अधिक मामले होने में लगभग सात महीने लगे। Also Read - स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा, कोविड रोगियों के लिए मेडिकल ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं

corona cases rapidly increasing in india

भारत में दैनिक कोरोना मामलों का ट्रजेक्टरी विश्व में सबसे ज्यादा।

20 दिनों में दोगुना बढ़े कोरोना के मामले

17 जुलाई को,मैटल इलेक्ट्रॉनिक फुटबॉल देश में 10 लाख मामले हो गए थे, जो 7 अगस्त को 20 दिन में दोगुना होकर 20 लाख हो गया, और 23 अगस्त तक और 10 लाख मामले बढ़ गए। अब छह दिनों में चार लाख मामले और जुड़ गए हैं। इस मोड़ पर, वायरस के प्रसार (Virus spread) को देखने के लिए मापदंडों की तुलना करना उचित है। दोहरीकरण दर, वह दर जिस पर देश में कुल मामले दोगुने हो रहे हैं। मामले दोहरे होने के हिसाब से भारत के 32 दिन के मुकाबले ब्राजील में 68 दिन और अमेरिका में 96 दिन है। Also Read - Covid-19 Live Updates: भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या हुई 49,30,236, अब तक 80,776 लोगों की मौत

जुलाई में कम हुई है पॉजिटिविटी दर

पॉजिटिविटी दर में जुलाई की तुलना में कमी देखने को मिली है। वर्तमान में यह 8.23 प्रतिशत है। एक अन्य पैरामीटर – मत्युदर, जो कन्फर्म मामलों के बीच मौतों का अनुपात है, 1.8 प्रतिशत है। यह दर वैश्विक औसत 3.4 प्रतिशत और अमेरिका और ब्राजील के क्रमश: 2.1 प्रतिशत और 3.2 प्रतिशत की तुलना में बेहतर है। इस बीच, भारत में ठीक होने की दर वर्तमान में 76.4 प्रतिशत है। 25 मार्च को लॉकडाउन लागू होने के समय यह 7.10 प्रतिशत था। कोरोना से पांच सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश हैं। दिल्ली, जो कथित तौर पर जून में चरम पर थी, में फिर से हर दिन अधिक मामले आने शुरू हो गए हैं।

Published : August 29, 2020 8:49 pm | Updated:August 29, 2020 9:00 pm Read Disclaimer Comments - Join the Discussion दिल्ली मेट्रो सेवाएं 7 सितंबर से चरणबद्ध तरीके से होंगी शुरू, जानें मेट्रो की सवारी के लिए जारी किए गए सेफ्टी प्रोटोकॉलदिल्ली मेट्रो सेवाएं 7 सितंबर से चरणबद्ध तरीके से होंगी शुरू, जानें मेट्रो की सवारी के लिए जारी किए गए सेफ्टी प्रोटोकॉल दिल्ली मेट्रो सेवाएं 7 सितंबर से चरणबद्ध तरीके से होंगी शुरू, जानें मेट्रो की सवारी के लिए जारी किए गए सेफ्टी प्रोटोकॉल क्या टॉयलेट पाइप से घरों में पहुंच सकता है कोरोना? शोध में हुआ यह चौंकाने वाला खुलासाक्या टॉयलेट पाइप से घरों में पहुंच सकता है कोरोना? शोध में हुआ यह चौंकाने वाला खुलासा क्या टॉयलेट पाइप से घरों में पहुंच सकता है कोरोना? शोध में हुआ यह चौंकाने वाला खुलासा ,,